जंगल में मंगल सेक्स

త్రిష నీలి చిత్రాలు

త్రిష నీలి చిత్రాలు, राज को हुए इस हल्के से दर्द में भी अजीब सा नशा था.. उसने अफ तक ना की और प्रिया को अपने उपर खींच लिया.. अब प्रिया की छातिया आधी राज के सीने में पायबस्त थी और आधी उसके चेहरे के बिल्कुल सामने.. रज़िया बिना कहे मंडी हां मे हिलाते दूसरा नीवाला अपने आप उठाके हरी को खिलाते बोली, चाचा वो इलाज और यह नाइटी के संबंध के बारे मे बताओ ना अब जो मैने आपकी बात मान के आपको खाना खिलाने लगी हूँ.

मनोहर कुछ देर बाद रतन के कॅबिन मे पहुच जाता है और तभी सपना रतन की गोद से उठ कर मनोहर को मुस्कुराकर देखते हुए बाहर चली जाती है तभी रतन सपना को दो कॉफी का इशारा कर देता है और फिर- अगले दिन आरती सुबह से ही बहुत एक्शिटेड थी,आज वो रमण के साथ मूवी देखने जाने वाली थी,ये बात मनु को तो पता थी,पर उसके बाप अरविंद को पता नही था कि उसकी बीवी आज उसको बताए बिना किसी और के साथ मूवी देखने के लिए जाने वाली है.

मैने बोला के आनी बॅस अब तुमको कुछ नही होगा. तुम्हारा दरद भी अब ख़तम हो जाएगा. मैं तुमको एक और टॅबलेट खिलाउंगा फिर तुमको लगेगा जैसे तुम्हारी कुँवारी चूत की सील भी नही टूटी है और ना ही तुमने कभी अपनी गंद मरवाई है. త్రిష నీలి చిత్రాలు सरोज: आधी उसकी और तेरी तो पूरी हू. और साली मादरचोद आधी तो हूँ ना….बस चूत चाटने काम आये और अन्दर की थोड़ी खुजली मिटा दे तो भी चलेगा…. क्यों जानू..????.

हेमा मालिनी नंगे फोटो

  1. ज़रा सा चूतड़ उठाओ. नंगी चूत को रमेश की उंगलियों से सहलवाने मैं इतना मज़ा आया कि मेरे अंदर जो थोड़ी बहुत झिझक थी, वह भी ख़तम हो गयी. मैने चूतड़ उठाया तो वह बोला,
  2. ये.. प्रिया ने तेज़ी से अपना हाथ नीचे ले जाकर राज के लिंग को च्छुआ और उतनी ही तेज़ी से उसको वापस खींच लाई... माँ बेटे की चुदाई वीडियो
  3. मैं शिवानी के लहनगा के नाडे पर और शिवानी की नाभि पर हाथ फिरा रहा था और मैने अपनी नंगी छाती शिवानी की पीट से सटाई तो शिवानी सीत्कार कर उठी... 'उईईईई.... सीईईईई मनु.... तुम्हारा बदन तो ताप रहा है..... मुझे गुदगुदी होती है........ शिवानी बोली और मौके का फायदा उठा के उन्होंने मेरी चूचियाँ पकड़े-पकड़े कस-कस के धक्के लगाये और पूरा लंड मेरी कोरी गांड़ में घुसेड़ दिया. दर्द के मारे मेरी गांड़ फटी जा रही थी. कुछ देर रुक के उनका लंड पूरा बाहर आके मेरी गांड़ मार रहा था.
  4. త్రిష నీలి చిత్రాలు...बहुत देर तक हम ऐसे ही पड़े रहे और शिवानी को अपने ऊपेर लेटाए हुए ही मैं उसकी पीठ और गर्दन और गांद सहलाता रहा.... शिवानी के मस्त बूब्स मेरी छाती मे दबे हुए थे.... फिर सासूजी ने मेरे पूरे चेहरे को अपनी कोमल जीभ से साफ़ कर दिया.. इसके बाद सासूजी ने अपने कोमल होंठों को मेरे होंठों पर रखे और चूसने लगीं।
  5. आरती-ये तो मुझे भी पाया है कि मैं उसको वादा करके उसके साथ नही गयी,तो रमण को बुरा तो लगा ही होगा,पर मेने सोचा कि जब तुम्हे ये पता चलेगा कि मे रमण के साथ अकेले मे मूवी देखने गयी हूँ ,तो तुम क्या सोचोगे. उन्होंने उसे उठा के उसका नोज़ल सीधे मेरी गांड़ में घुसा दिया और थोड़ी सी क्रीम दबा के अंदर घुसा दी. और जब तक मैं कुछ समझती उन्होंने अबकी दो उंगलियां मेरी गांड़ में घुसा दी.

पवन सिंह काजल राघवानी

उसने मुझे बाहों मे भर लिया और मेरे बूब्स मसलते हुये बोला, पाँच मिनिट ही तो लगेंगे. मार लेने दे ना मुझे एक बार अपनी चूत.

भाभी की भाभियाँ, सहेलियाँ, बहनें...घेर लिया गया मैं. गालियाँ, ताने, मजाक...लेकिन मेरी निगाहें चारों ओर जिसे ढूंढ रही थी, वो कहीं नहीं दिखी. वाणी के मासूम से चेहरे पर गुस्से की लाली देख दोनो मुस्कुरा उठी, तो तू चली जाती वाणी.. अगर दिल नही लग रहा था उसके बिना...

త్రిష నీలి చిత్రాలు,कुछ देर बाद मा बोली, बता कैसी लगी हमारी चूत की चुदाई? मैं बोला, हाई मेरा मन करता है कि जिंदगी भर इसी तरह से तुम्हारी चूत मे लंड डाले पड़ा रहूं. मा बोलीजब तक तुम यहा हो, यह चूत तुम्हारी है, जैसे मर्ज़ी हो मज़े लो, अब थोरे देर आराम करतें है. नही मा, कम से कम एक बार और हो जाए.

‘ठीक हैं सुभाष मेरे पीछे आजाओ में तुम्हे दिखाती हूँ कि दादाजी जो कर रहे थे वो कैसे करते हैं, पर तुम किसी को बताना मत, ठीक हैं ?’

रमण -भाभी जी जब आप मेरे साथ यहाँ तक आ गयी हैं तो अब शरमाना छोड़ो और इसको-2 मत करो इसका नाम लो ये क्या है.हिंदी बीएफ फिल्म एक्स एक्स एक्स

और उपर से मेरे दुष्ट देवर ने आग में धौंकनी चला दी। झुक के वो मेरे निपल्स जोर ज्जोर से चूसने लगा , हलके से बाइट कर दिया , हेमा ने मेरी चूत को देखते हुए कहा, धरम का लंड राज के लंड से बहुत लंबा और मोटा है। इसलिये तुम्हारी चूत तो एक दम चौड़ी हो गयी है और कई जगह से कट भी गयी है।

अच्छा चलो. ...पहले ये कोल्ड ड्रिंक पी के थोड़ा गरमी कम करो. ...और मैंने आँख मार के राजीव को इशारा किया, और उन्होंने पकड़ के ग्लास कम्मो के होंठों पे. ...जबरन ...

बापू : पहना है.लेकिन मुझे मालिश की ज़रूरत नहीं. मैं बापू के ऊपर डॉग्गी स्टाइल में थी.उनकी छाति पर तेललगा रही थी. मैं जान बूझ कर स्लिप कर गयी और बापू के ऊपर आ पड़ी.हम दोनो के नंगे जिस्म कॉंटॅक्ट में आगये.अब मैं बापू के ऊपर लेटी हुई थी.मेरे ब्रेस्ट बापू की छाती से सटे हुए थे,త్రిష నీలి చిత్రాలు अनचाहे ही मै हर्षा की चूत का स्मरण करता हुआ मुठ मारने लगा. मेरे लण्ड से जब लावा निकल गया तब कुछ चैन मिला.

News